“अफ़सर” व्यक्तित्व

(ESTJ-A / ESTJ-T)

अच्छा आदेश सारी चीज़ों की बुनियाद है।

Edmund Burke

कार्यकारी अधिकारी परंपरा और व्यवस्था के प्रतिनिधि होते हैं, वेअपनी क्या सही है, क्या गलत है, और क्या सामाजिक रूप से स्वीकार्य है, की समझ के उपयोग से परिवारों और समुदायों को इकट्ठा करने में सक्षम होते हैं। ईमानदारी, समर्पण और गरिमा के मूल्यों को स्वीकारते हुए, कार्यकारी व्यक्तित्व वाले लोगों को उनकी स्पष्ट सलाह और मार्गदर्शन के लिए मूल्यवान माना जाता है, और वे ख़ुशी से मुश्किल राहों पर नेतृत्व करते हैं। लोगों को एक साथ लाने में गर्व महसूस करते हुए, कार्यकारी लोग अक्सर समुदाय के आयोजकों की भूमिका निभाते हैं,अभिलाषित स्थानीय घटनाओं के जश्न में सबको एक साथ लाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं या उन पारंपरिक मूल्यों की रक्षा करते हैं जो परिवारों और समुदायों को एक साथ बाँधकर रखते हैं।

“अफ़सर” व्यक्तित्व (ESTJ-A / ESTJ-T)

कुशल एवं योग्य लोग अपने आदर्शों के लिए हमेशा खड़े रहते है...

ऐसे नेतृत्व की मांग लोकतांत्रिक समाजों में उच्च है, और जनसंख्या में कम से कम 11% भाग इनका है, यह कोई आश्चर्य वाली बात नहीं है कि दुनिया भर के मशहूर राजनीतिक और व्यापार जगत के नेताओं ने अधिकारियों की भूमिका निभाई है। कानून और अर्जित अधिकार के शासन में मजबूत विश्वास रखने वाले, कार्यकारी व्यक्तित्व वाले लोग समर्पण और उद्देश्यपूर्ण ईमानदारी का प्रदर्शन कर और विशेष रूप से काम में आलस्य और धोखाधड़ी को पूरी तरह से अस्वीकार करते हुए स्वयं उदाहरण बनकर नेतृत्व करते हैं। अगर कोई हाथ से किये हुए काम को चरित्रनिर्माण का एक शानदार तरीका घोषित करता है तो वह कार्यकारी व्यक्तित्व वाला व्यक्ति ही है।

कार्यकारी अपने परिवेश के बारे में सजग रहते हैं और स्पष्ट और सत्यापित किए जा सकने वाले तथ्यों की दुनिया में रहते हैं – उनके ज्ञान की निश्चितता का मतलब है कि भारी प्रतिरोध होने पर भी वे अपने सिद्धांतों से डगमगाते नहीं है, और क्या चीज़ स्वीकार्य है और क्या नहीं, इस पर एक स्पष्ट दृष्टिकोण को बढ़ावा देते हैं। उनकी राय भी खाली बातें नहीं होती हैं क्योंकि कार्यकारी व्यक्तित्व वाले लोग सबसे चुनौतीपूर्ण परियोजनाओं का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं, कार्य योजना में सुधार करते हैं, साथ-साथ विवरण छँटाई करते हैं और ऐसे काम करते हैं कि सबसे मुश्किल काम भी आसान और पहुँच योग्य लगने लगता है।

हालांकि, कार्यकारी अकेले काम नहीं करते, और उम्मीद करते हैं कि दूसरे भी उनकी विश्वसनीयता और कार्यनीति का प्रतिदान दें– इस तरह के व्यक्तित्व वाले लोग अपने वादों को पूरा करते हैं और अगर उनके भागीदार या सहयोगी अक्षमता या आलस्य के कारण उन्हें रोकने की कोशिश करते हैं और इससे भी बदतर कि अगर वे बेईमानी करते हैं, तो ये लोग अपना गुस्सा दिखाने से पीछे नहीं हटते। यह उनकी अनमनीयता वाली प्रतिष्ठा का कारण बन सकता है, पर इसका मतलब यह नहीं है कि कार्यकारी व्यक्तित्व वाले लोग मनमानी करते हैं या जिद्दी होते हैं, बल्कि इसलिए क्योंकि वे विशवास करते हैं कि यही वे मूल्य है जिन पर समाज टिका हुआ है।

... लेकिन फिर भी बेहतर वे हैं जो अपनी गलती को स्वीकार करते हैं

कार्यकारी अधिकारी एक आदर्श नागरिक का श्रेष्ठ चित्र हैं: वे अपने पड़ोसियों की मदद करते हैं, कानून का पालन करते हैं और यह सुनिश्चित करने की कोशिश करते हैं कि जिन समुदायों और संगठनों को वे इतना मूल्यवान मानते हैं, उन में सभी भाग लें।

कार्यकारी व्यक्तित्व वाले लोगों के लिए मुख्य चुनौती यह है कि वे यह समझें कि हर कोई एक ही पथ पर नहीं चलता या एक ही तरह से योगदान नहीं देता है। एक सच्चा नेता व्यक्ति के साथ-साथ तथा एक समूह की शक्ति को भी पहचानता है, और उन व्यक्तियों के विचारों को आगे लाने में मदद करता है। इस तरह, कार्यकारी व्यक्तित्व वाले लोगों के पास सभी तथ्य मौजूद होते हैं, और वे उन दिशाओं में नेतृत्व करने में सक्षम होते हैं जो कि सब के लिए फायदेमंद हों।

कार्यकारी व्यक्ति जिनसे शायद आप परिचित हों

क्या आपको अधिक जानना है?