“वैज्ञानिक” व्यक्तित्व

(INTP-A / INTP-T)

बीते कल से सीखें, आज के लिए जीएं, आने वाले कल के लिए आशावान रहें। महत्वपूर्ण बात यही है कि आप सवाल पूछना बंद न करें।

Albert Einstein

तार्किक व्यक्तित्व के लोग काफी हद तक विरले होते हैं, जनसंख्या का केवल तीन प्रतिशत बनाते हुए, जोकि उनके लिए बेशक फायदेमंद होता है, क्योंकि उनके लिए सबसे ज़्यादा उदास कर देने वाली बात है "आम" होना। तार्किक व्यक्ति अपनी मौलिकता और रचनात्मकता के बारे में, अपने अनोखे दृष्टिकोण और ज़ोरदार अक्ल के बारे में, गर्व महसूस करते हैं। आम तौर पर दार्शनिक, विचारक, या स्वप्निल प्रोफेसर के रूप में जाने जाने वाले, तार्किक व्यक्ति इतिहास में कई वैज्ञानिक खोजों के लिए उत्तरदायी हैं।

बिना जांचा गया जीवन जीने योग्य नहीं होता

तार्किक व्यक्ति अपने प्रतिभाशाली सिद्धांतों और कठोर तर्क के लिए जाने जाते हैं – वास्तव में उन्हें सभी व्यक्तित्व प्रकारों में से सबसे अधिक तार्किक रूप से सटीक माना जाता है।

तार्किक व्यक्तित्व वाले लोगों को स्वरूप पसंद होते हैं, और कथनों के बीच भेदों का पता लगाना उनका शौक कहा जा सकता है, जिसके कारण किसी तार्किक व्यक्ति के समक्ष झूठ बोलना एक बुरा विचार है। इसके कारण यह व्यंग्यपूर्ण हो जाता है कि तार्किक व्यक्तियों की बातों को हमेशा संदेह के साथ स्वीकारना चाहिए – ऐसा नहीं है कि वे बेईमान होते हैं, लेकिन तार्किक व्यक्तित्व के लोगों में अविकसित विचारों को साझा करने की प्रवृत्ति होती है, और वे दूसरों को बातचीत के वास्तविक साझेदार के रूप में उपयोग करने के बजाय वे स्वयं के विरुद्ध वाद-विवाद में विचारों व सिद्धांतों के लिए अपने विचारों को फ़ैलाने के ज़रिये के रूप में करते हैं।

इसके कारण हो सकता है कि यह व्यक्तित्व प्रकार अविश्वसनीय लगे, लेकिन वास्तव में, तार्किकों के अलावा ऐसा कोई और नहीं है जो इनसे बढ़कर उत्साहपूर्ण हो और समस्या का पता लगाने की क्षमता रखता हो, जो उन अंतहीन कारकों और विवरण को टटोलते हुए, जो समस्या को घेरे होते हैं, एक अनोखे और व्यावहारिक समाधान का निर्माण करता है – बस आप केवल पाबंद प्रगति रिपोर्ट की आशा न रखें। वे लोग जो तार्किक व्यक्तित्व प्रकार के होते हैं, व्यावहारिक रोजमर्रा की गतिविधियों और रखरखाव के बारे में रुचि नहीं रखते, लेकिन वे एक ऐसा परिवेश खोज लेते हैं जो उनके रचनात्मक सूक्ष्म बुद्धि और सामर्थ्य को व्यक्त करने देता है, एक गहरी पहुँच वाले, निष्पक्ष समाधान का विकास करने में तार्किक व्यक्ति असीमित समय और ऊर्जा लगाने के लिए तत्पर रहते हैं।

“वैज्ञानिक” व्यक्तित्व (INTP-A / INTP-T)

बुद्धिमत्ता की शुरुआत विस्मय से होती है

वे अंतहीन दिवा स्वप्न में घूमते-फिरते हुए प्रतीत हो सकते हैं, लेकिन तार्किकों की सैद्धांतिक प्रक्रिया अनवरत होती है, और उनका दिमाग जागने के बाद से विचारों से गूँजता रहता है। ऐसी लगातार सोच प्रक्रिया के कारण, वे विषादग्रस्त व निर्लिप्त दिख सकते हैं, क्योंकि वे अक्सर अपने दिमाग में ही जोर-शोर से वाद-विवाद संचालित करते रहते हैं, लेकिन वास्तव में तार्किक व्यक्ति अपने परिचितों की अथवा ऐसे लोगों की संगत में तनावमुक्त तथा स्नेहशील रहते हैं जिनके साथ उनकी रुचियाँ मेल खाती हैं। हालांकि, जब तार्किक व्यक्तित्व के लोग अपरिचित लोगों के साथ होते हैं तो वे अत्यधिक शर्मीले बन सकते हैं, और अगर उन्हें लगे कि उनके तर्कपूर्ण निष्कर्षों या सिद्धांतों की आलोचना की जा रही है, तो मित्रतापूर्ण हँसी-मज़ाक झगड़े का रूप ले सकती है।

जब तार्किक लोग ख़ास तौर पर उत्तेजित होते हैं, तब बातचीत असंबद्धता का संकेत दे सकती है, जब वे उन तर्कपूर्ण निष्कर्षों के गुलबहार के हार को स्पष्ट करने की कोशिश करते हैं जो उनके नवीनतम विचार की रचना का कारण है। अक्सर, तार्किक व्यक्ति किसी एक विषय के बारे में कहते-कहते उसे सादे शब्दों में पेश करने की कोशिश किए बिना ही झट से दूसरे विषय पर चले जाते हैं, इससे पहले कि पहला विषय समझा जा सके।

इसका विपरीत भी सत्य हो सकता है जब लोग आत्मीयता और अनुभूति के शब्दों में तार्किक व्यक्तित्व के लोगों को अपने विचार प्रक्रियाएँ समझाने की कोशिश कर रहे होते हैं। एक अत्यधिक जटिल यंत्रवत कार्य की कल्पना करें, हरेक संभव तथ्य और विचार को लेते हुए, उन्हें रचनात्मक विवेक बुद्धि की भारी मात्रा के साथ, और उपलब्ध सबसे अधिक तर्कपूर्ण सुनाई देने वाले समाधान लौटाते हुए – तार्किक व्यक्ति का दिमाग बिल्कुल वैसे ही काम करता है, और इस प्रकार अपने मशीनों के साथ भावनात्मक उल्टी-सीधी हरकतों के लिए बहुत कम सहनशीलता होती है।

जो लोग दुनिया को बदलना चाहते हैं, उन्हें पहले ख़ुद बदलने दें

इसके अतिरिक्त, तार्किक लोगों में भावनात्मक शिकायतों को समझने की क्षमता नहीं के बराबर होती है, और उनके मित्रों को उनसे भावनात्मक समर्थन शायद ही प्राप्त होता हो। तार्किक व्यक्तित्व प्रकार का व्यक्ति एक अन्तर्निहित समस्या को कैसे हल करना है, के बारे में तर्कपूर्ण सुझावों की एक श्रृंखला प्रदान कर सकता है, एक ऐसा दृष्टिकोण जिसका उसके अधिक संवेदनशील साथियों द्वारा हमेशा स्वागत नहीं किया जाता। इसका विस्तार संभवतः अधिकांश सामाजिक रिवाजों व लक्ष्यों में भी होगा, जैसे कि डिनर की योजना बनाना और शादी करना, क्योंकि तार्किक लोग मौलिकता और कुशल परिणामों को लेकर अधिक चिंताशील होते हैं।

एक चीज़ जो तार्किक व्यक्तियों को नियंत्रण में रखती है वह है असफलता के विषय में उनकी बेचैनी और व्यापक डर। तार्किक व्यक्तित्व के लोग अपने विचारों व सिद्धांतों के पुनर्मूल्यांकन को लेकर इतने उन्मुख होते हैं, हमेशा यह सोचकर इतने चिंतित रहते हैं कि उनसे कुछ महत्वपूर्ण भाग छूट तो नहीं गया, कि वे एक ऐसी अमूर्त दुनिया में रुद्ध हो सकते है, खो सकते हैं जहाँ उनके विचार कभी भी वास्तविक रूप से लागू नहीं होते। इस आत्मसंदेह को वश में करना ही तार्किकों के लिए सबसे बड़ी चुनौती हो सकती है, लेकिन इस दौरान वे दुनिया को जिन बौद्धिक योग्यताओं – बड़ी और छोटी – से नवाज़ते है वह इस प्रक्रिया को बेहद अर्थपूर्ण बना देता है।

तार्किक लोग जिनसे शायद आप परिचित हों

क्या आपको अधिक जानना है?